चाणक्य के अनुसारअच्छे स्वास्थ्य के लिए आचार्य चाणक्य ने बताएं हैं ये 4 टिप्स।

0

1. चाणक्य के अनुसार किसी भी व्यक्ति को पानी का सही उपयोग करना चाहिए यानि कहने का मतलब है कि अगर आपका खाना नहीं पचता है तो आप बार-बार पानी का सेवन ना करें क्योंकि ऐसा करना आपके शरीर के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है इसलिए व्यक्ति को खाना खाने के पहले या खाना खाने के बाद ही पानी पीना चाहिए ताकि उसे किसी प्रकार की स्वास्थ संबंधी समस्याओं का सामना नही करना पड़ेगा।

2. चाणक्य के अनुसार शरीर को स्वास्थ्य और सेहतमंद रखने के लिए खाने का सेवन करना अति आवश्यक है क्योंकि खाने से यह हमें शरीर में ऊर्जा मिलती है और तभी हम किसी भी कार्य को बड़ी निष्ठा और परिश्रम के साथ कर कर पाते हैं इसलिए व्यक्ति को भोजन का समय निश्चित समय पर ही करना चाहिए तभी उसका शरीर में भोजन लाभ करेगा।

3. चाणक्य कहते हैं कि कभी भी किसी व्यक्ति को अपने जीवन में कच्चा अनाज का सेवन नहीं करना चाहिए बल्कि उसे पक्का अनाज का सेवन करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपका शरीर स्वस्थ और सेहतमंद रहेगा वरना आप अनेकों प्रकार के स्वस्थ संबंधी समस्याओं का सामना आपको करना पड़ेगा। इसके अलावा व्यक्ति को अपने जीवन में दूध और घी का भी सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें अनेकों प्रकार के पोष्टिक पदार्थ होते हैं जो हमारे शरीर को मजबूत और सेहतमंद रखते हैं

4. चाणक्य के अनुसार धतूरा खाने से रोग बढ़ता है और दूध पीने से शरीर बनता है। घी खाने से शरीर मजबूत होता है और साथ में मांसपेशियों में वृद्धि होती है और मांस खाने से मांस बढ़ता है व्यक्ति को इन चीजों का ध्यान जरूर चाहिए तभी उसका शरीर अनेकों प्रकार के बीमारियों से बच पाएगा और स्वस्थ रह पाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.