डायबिटीज, कैंसर जैसी 4 गंभीर बीमारियों का काल है यह फल, बस खाने का तरीका पता हो

0

स्वास्थ्य सिर्फ बीमारियों की अनुपस्थिति का नाम नहीं है। हमें सर्वांगीण स्वास्थ्य के बारे में जानकारी होना बोहोत आवश्यक है। स्वास्थ्य का अर्थ विभिन्न लोगों के लिए अलग-अलग होता है। लेकिन अगर हम एक सार्वभौमिक दृष्टिकोण की बात करें तो अपने आपको स्वस्थ कहने का यह अर्थ होता है कि हम अपने जीवन में आनेवाली सभी सामाजिक, शारीरिक और भावनात्मक चुनौतियों का प्रबंधन करने में सफलतापूर्वक सक्षम हों। वैसे तो आज के समय मे अपने आपको स्वस्थ रखने के ढेर सारी आधुनिक तकनीक मौजूद हो चुकी हैं, लेकिन ये सारी उतनी अधिक कारगर नहीं हैं।
फल हमारी सेहत के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं, कई प्रकार के फल ऐसे हैं जो हर मौसम में उपलब्ध होते हैं, लेकिन कुछ फल मौसम के हिसाब से ही आते हैं, यदि बात करें अंगूरों की अंगूर ऐसे ही फल है जो हर मौसम में उपलब्ध नहीं हो सकते, अंगूर मधुमेह कैंसर जैसे रोगों के लिए बेहद फायदेमंद है, क्योंकि अंगूर में हेरोस्टिलवेन नामक पदार्थ मौजूद होता है जो एंटी ऑक्सीडेंट है, इतना ही नहीं अंगूर खाने से शुगर की मात्रा को भी कम किया जा सकता है, यह मधुमेह रोगियों के लिए बेहद उपयोगी है, बात करें इनके कलर की तो हरे अंगूर की तुलना में काले अंगूर मैं हेरोस्टिलवेन की मात्रा अधिक होती है, जिसे खाने से खून का संचार बदल जाता है, इसके अलावा इसके कई फायदे हैं|
अंगूर खाने के 4 फायदे
1.यदि आपको जुखाम हो जाए तो आप ऐसे में 50 ग्राम अंगूर खाएं ऐसा करने से जुखाम से छुटकारा मिल जाएगा और ब्लड प्रेशर भी सामान्य बना रहेगा|
2.चेचक रोगियों को अंगूर खाने से आराम मिलता है और हृदय में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए आधा कप अंगूर का रस पीने से तुरंत ही आराम मिलता है|
3.कैंसर रोगियों के लिए पहले दिन थोड़ा अंगूर का सेवन करना चाहिए, फिर धीरे-धीरे एक गिलास पीने की आदत बना लें, यदि अंगूर का रस या मुनक्के का सेवन टाइफाइड बुखार में किया जाए तो उसमें बेहद फायदेमंद होता है, इसके नियमित सेवन से पेट में मल अच्छे से साफ होता है|
4.अंगूर को यदि आप काला नमक कालीमिर्च के साथ खाते हैं तो कब्ज से राहत मिलती है और गुर्दे के दर्द में अंगूर के ताजा पत्ते लगभग 50 ग्राम पानी में थोड़ा सा नमक मिलाकर उबालकर पीने से इस रोग में लाभ मिलता है|

Leave A Reply

Your email address will not be published.