दादी मां के ये बेहतरीन नुस्खे आपके बड़े काम आएंगे, जल्दी से जान लें वरना देर हो जाएगी

0

स्वास्थ्य सिर्फ बीमारियों की अनुपस्थिति का नाम नहीं है। हमें सर्वांगीण स्वास्थ्य के बारे में जानकारी होना बोहोत आवश्यक है। स्वास्थ्य का अर्थ विभिन्न लोगों के लिए अलग-अलग होता है। लेकिन अगर हम एक सार्वभौमिक दृष्टिकोण की बात करें तो अपने आपको स्वस्थ कहने का यह अर्थ होता है कि हम अपने जीवन में आनेवाली सभी सामाजिक, शारीरिक और भावनात्मक चुनौतियों का प्रबंधन करने में सफलतापूर्वक सक्षम हों। वैसे तो आज के समय मे अपने आपको स्वस्थ रखने के ढेर सारी आधुनिक तकनीक मौजूद हो चुकी हैं, लेकिन ये सारी उतनी अधिक कारगर नहीं हैं।
दोस्तों आजके समय में कुछ भी बीमारियां होने पर लोग डॉक्टर के पास दौड़कर जाया करते हैं। वहीं पुराने जमाने में इनके जगह हमारी दादियों-नानियों के पास ऐसे उपचार होते थे। जिनसे झटपट कुछ घरेलू चीजों द्वारा ही उन रोगों का इलाज हो जाता था। वो भी घर में मौजूद चीजों द्वारा। आज मैं आपको कुछ ऐसी ही आसान नुस्खा बताने वाली हूं। जो कि आसानी से आपकी रसोई घर में मिल जाते हैं। जो ना सिर्फ सस्ते होते हैं बल्कि उनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। आइए देखते हैं-
1) कब्ज की समस्या में– अगर आपको कब्ज होता है तो आप रोज रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद को एक गिलास पानी में मिलाकर पी लें। कब्ज दूर हो जाएगा। इसके अलावा आप सुबह नींबू की चाय पीते हैं। तो भी कब्ज और एसिडिटी में आपको फायदा मिलेगा।
2) दांतों की समस्याओं में– अगर आपके दांतों में पीलापन है तथा कीड़ा लगने या दांतो से जुड़ी अन्य समस्याएं आपको परेशान करती हैं। तो सरसों के तेल में हल्दी और सफेद नमक मिलाकर दांतों को सोने से पहले अच्छी तरीके से माँजे। दांत चमक जाएंगे।
3) कान के दर्द में– अगर कान का दर्द गाहे-बगाहे आपको परेशान करता है तो प्याज को पीसकर उसका रस कपड़े से छान लें फिर से हल्का गर्म करके कान में डाल लें। कान दर्द समाप्त हो जाएगा।
4) गले की खराश में- अगर आपके गले में खराश हो गई है तो तुलसी के दो या तीन पत्तों को पानी में डालकर उन्हें उबाल लें। जब तुलसी का रस पानी में निकल जाए तो उस पानी से गरारा करें, गले की खराश दूर हो जायेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.