महाराष्ट्र में कांग्रेस से हाथ मिलाते ही शिवसेना ने बदला रंग, अब भाजपा से कहा सोनिया…

0

महाराष्ट्र में दो अलग विचारधाराओं का मिलन हो गया है। शिवसेना और कांग्रेस दोनों एक साथ आ गई हैं और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार का गठन भी हो गया है। उद्धव ठाकरे राज्य के सीएम भी बन गए हैं और उन्होंने अपना बहुमत परीक्षण भी पास कर लिया है। हालांकि महाराष्ट्र में कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद शिवसेना ने अपना रंग बदल लिया है। जिस मुद्दे पर वो भाजपा के साथ खड़ी थी, अब सोनिया और गांधी परिवार के साथ खड़ी हो गई है।

कांग्रेस और शिवसेना महाराष्ट्र में साथ-साथ

भाजपा से अलग होने के बाद शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के साथ आने की कोशिश की थी। इसके बाद शरद पवार ने अपना दांव चला और कांग्रेस को शिवसेना के साथ आने के लिए मना लिया। अब महाराष्ट्र में कांग्रेस और शिवसेना एक हैं, भले ही दोनों की विचारधारा अलग-अलग हैं। राज्य में साथ आने के बाद अब शिवसेना गांधी परिवार के लिए चिंतित होने लगी है।

जानें गांधी परिवार के लिए भाजपा से क्या कहा

शिवसेना ने अब अपना रंग बदल लिया है। शिवसेना ने भाजपा से गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा वापस लेने पर चिंता जता दी है। पार्टी ने कहा कि किसी की भी जिन्दगी से खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। इन मामलों को राजनीति से अलग रखना चाहिए। शिवसेना ने पूछा है कि गृह मंत्रालय में किसको लगता है कि गांधी परिवार पर खतरा कम हो गया है। साथ ही मोदी से मामले पर दोबारा विचार करने को कहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.