COVID-19: आईसोलेशन वार्ड के डॉक्टर दंपति ने किया ऐसा, डॉक्टर दंपति पर उठे यह सवाल

0

वैश्विक महामारी बन चुके कोरोनावायरस से जहां मरीजों की जान जा रही है वहीं इस महामारी से डॉक्टर भगवान बनकर अस्पतालों में खड़ें हैं और मरीजों की सेवा करते हुए अपनी जान तक दे रहे हैं लेकिन झारखंड में एक ऐसा मामला सामने आ रहा है जो डॉक्टरों के लिए शर्मिंदा करने वाला हो सकता है।

आपको बता दें कि झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले के एक सरकारी अस्पताल के एक डॉक्टर दंपती ने नौकरी से इसलिए इस्तीफा दे दिया, क्योंकि उसकी ड्यूटी कोरोना वायरस के आइसोलेशन वार्ड में लगाई गई थी। अधिकारियों के मुताबिक डॉक्टर ने अपनी पत्नी के साथ व्हाट्सएप संदेश के माध्यम से इस बारे में बताया और बाद में ईमेल भी किया।

हालांकि डॉक्टर ने इस्तीफा देने का कारण परिवारिक मामला बताया है और अपनी सफाई मे बताया कि कि वह ऑफिस पॉलिटिक्स का शिकार थे। साथ ही उन्होंने कहा है कि मेरी पत्नी और बहन एक इम्यूनोसप्रेसिव (प्रतिरक्षा को दबाने वाली) अवस्था में हैं और उनमें संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा है।

आपको बताते चलें कि डॉक्टर दंपति के इस्तीफा देने के बाद पश्चिम सिंहभूम जिले के सिविल सर्जन डॉ. मंजू दुबे ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने डॉ. आलोक तिर्की को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। राज्य के स्वास्थ्य सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी के निर्देश पर उन्हें तुरंत ड्यूटी ज्वाइन करने को कहा है। अब देखना है कि वह मावनवीय भावना को देखते हैं या परिवारिक भावना को देखते हैं। इसपर आप अपनी टिप्पणी जरूर दे …..धन्यवाद

Leave A Reply

Your email address will not be published.